अम्ल और क्षार (Acid and Base notes in Hindi)

Acid and Base in Hindi – अम्ल और क्षार

अम्ल और क्षार (Acid and Base notes in Hindi)

अम्ल और क्षार

अम्ल(Acid definition in hindi)


साधारणत: वह पदार्थ जिसका स्वाद खट्टा होता है तथा जो नीले लिटमस पेपर(  LITMUS PAPER ) को लाल कर देता है, अम्ल कहलाता है
जैसे-HCl , H2SO4 , HNO3

etc.

सभी अम्लों में हाइड्रोजन आयन (H+) उपस्थित होता है |
जैसे-HCl → (H+) + (Cl)
H2SO4 → 2(H+) + (SO4)

etc.

अम्लों के रासायनिक गुण( Cemical properties of Acid) –

– निम्न हैं :

1- अम्ल जल में घुलकर हायड्रोनियम आयन (H3O+) का निर्माण करता है |

(H+) + H2O → (H3O+)

2- अम्ल धातुओं से क्रिया करके लवण(Salt) और जल बनाता है |

[ अम्ल + धातु = लवण + H2 ]

H2SO4 + Zn → ZnSO4 + H2

2HNO3 + Cu → Cu(NO3)2 + H2

3- अम्ल धात्विक ऑक्साइड से क्रिया करके लवण बनाते है तथा जल बाहर निकलता है |

[ अम्ल + धातु ऑक्साइड = लवण + H2O]

CuO + H2SO4 → CuSO4 + H2O

ZnO + 2HCl → ZnCl2 + H2O
कुछ सामान्य पदार्थो में उपस्थित अम्ल

सिरका - एसिटिक अम्ल

           संतरा - सिट्रिक अम्ल

इमली - टार्टरिक अम्ल

           टमाटर - ऑक्सैलिक अम्ल

दही - लैटिक अम्ल

           निम्बू - सिट्रिक अम्ल

चींटी - मेथेनोइक अमल


Related Posts
लवण और pH नोट्स
नौसादर,फिटकरी और विरंजक चूर्ण
सामान्य ज्ञान 2018 pdf download


**** अम्ल और क्षार – Acid and base in hindi ****

क्षार(Base definition in hindi)


इसका स्वाद खट्टा होता है तथा यह लाल लिटमस पेपर( LITMUS PAPER) को नीला कर देता है |

जैसे-NaOH , Ca(OH)2

etc.

सामान्यत: सभी क्षारों में (OH) उपस्थित होता है |

जैसे-NaOH → (Na+) + (OH)

Ca(OH)2 → (Ca++) + (OH)

क्षारों के रसायनिक गुण( Chemical properties of Base)- निम्न हैं-

1- क्षार जलीय विलयन में घुलकर (OH) आयन देता है |

2- क्षार अमोनियम लवण से क्रिया करके लवण, जल और अमोनिया गैस बनाता है |

[ क्षार + अमोनियम लवण = लवण + जल + NH3]

जैसे-NH4Cl + KOH → KCI + H2O + NH3

NaOH + (NH4)2SO4 → NaSO4 + 2H2O + 2NH3

3- क्षार अधातु ऑक्साइड से क्रिया करके लवण व जल बनाते हैं |

[ क्षार + अधातु ऑक्साइड = लवण + H2O ]

जैसे-2 NaOH + CO2 → Na2CO3 + H2O

2 KOH + CO2 → K2CO3 + H2O

NOTE-

धातु ऑक्साइड भी क्षार होते हैं |

जैसे-CuO , FeO ,Al2CO3

etc.

**** अम्ल और क्षार – Acid and base in hindi ****

क्षारक(Alkais)

– वे क्षार जो जल मे घुलकर (OH) आयन देते हैं, क्षारक कहलाते हैं |

जैसे-NaOH → (Na+) + (OH)

Ca(OH)2 → (Ca++) + (OH)

ध्यान दें-

सभी क्षारक क्षार होते हैं, लेकिन सभी क्षार क्षारक नही होते हैं |

जैसे- NaOH एक क्षारक हैं क्योंकि यह जल में घुलकर (OH) देता है , CaO एक क्षार हैं लेकिन क्षारक नहीं हैं क्योंकि यह जल में घुलकर (OH) नही देता है |

हाइड्रोनियम आयन(Hydronium ion)-

जब acid को जल में घोला जाता है तो वह आयनित हो जाता है तथा जल के अणुओं से अभिक्रिया करके हाइड्रोनियम आयन(H3O)+ बनाता है।

Eg-HCl + H2O → (H3O)+ + Cl

उदासीनीकरण(Neutralisation)

उदासीनीकरण

-acid और Base के परस्पर अभिक्रिया करने पर salt और water बनने की क्रिया,उदासीनीकरण कहलाती है।

Eg-NaOH+HCl → NaCl+H2O

आयनीकरण(Ionisation)

-किसी यौगिक(compound) का धनायन(+) तथा ऋणायन (-) में टुट जाना आयनीकरण कहलाता है।

Eg-NaCl→ (Na+)+Cl


tags- Acid base and salt notes in hindi, Acid aur base notes hindi me , अम्ल क्षार और लवण, Highschool science notes in hindi, high school chemistry notes hindi me , class 10 science notes in hindi , 10th vigyan note hindi me. definition of acid in hindi, अम्ल ki paribhasha, क्षार और लवण ki paribasha.

4 thoughts on “अम्ल और क्षार (Acid and Base notes in Hindi)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *