Alum, bleaching powder and Sal ammonic in Hindi(फिटकरी,विरंजक चूर्ण और नौसादर)

Sal Ammonia,Alum and Bleaching Powder in Hindi

नौसादर ( Sal Ammonia)


रासानिक नाम- अमोनियम क्लोराइड
रासानिक सूत्र –

NH4Cl

बनाने की विधि(Method to make Sal Ammonia)-

हाइड्रोक्लोराइड अम्ल में अमोनिया गैस प्रवाहित करने पर नौसादर प्राप्त होता है |

HCl + NH3&#8594 NH4Cl

नौसादर का भौतिक एवं रासायनिक गुण(Physical and Chemical Properties of Sal Ammonia)-

1-यह सफेद रंग का एक क्रिस्टलीय पदार्थ है , इसको जलाने पर यह बिना द्रव में परिवर्तित हुए सीधे गैस में परिवर्तित हो जाता है |

NH4Cl &#8594 NH3 + HCl

2- कास्टिक सोडा के साथ क्रिया कराने पर NH3 देता है |

NH4Cl + NaOH &#8594 NaCl + H2O + NH3

3- बुझे चुने के साथ क्रिया कराने पर अमोनिया गैस देता है |

2NH4Cl + Ca(OH)2 &#8594 CaCl2 + 2H2O + 2NH3

4- लेड ऑक्साइड (लिथार्ज) के साथ अभिक्रिया कराने पर अमोनिया गैस प्राप्त होता है |

PbO + 2NH4Cl &#8594 PbCl2 + H2O + 2NH3

नौसादर के उपयोग(Uses of Sal Ammonia) –

1- प्रयोगशाला में |

2- औषधि के रूप में |

3- शुष्क सेल बनाने में |

4- उर्वरक बनाने में |

फिटकरी(Alum)


रासायनिक नाम- पोटैशियम एल्युमीनियम सल्फेट ( पोटाश एलम )
रासायनिक सूत्र-

K2SO4.Al2(SO4)3.24H2O

बनाने की विधि(Method to make Alum)-

K2SO4 और Al2(SO4)3 के जलीय विलयन का सांद्रण करने पर फिटकरी प्राप्त होता है |

K2SO4 + Al2(SO4)3 + 24H2O &#8594 K2SO4.Al2(SO4)3.24H2O

फिटकरी के भौतिक एवं रासायनिक गुण (Physical and Chemicl properties of Alum)-

1- फिटकरी का जलीय विलयन अम्लीय होता है |

2- 90 &#8451 पर गर्म करने पर फिटकरी पिघल जाती है |

3- 200 &#8451 पर गर्म करने पर इसका क्रिस्टल जल निकल जाता है |

K2SO4.Al2(SO4)3.24H2O &#8594 K2SO4.Al2(SO4)3 + 24H2O

4- जल में घोलने पर यह अपने आयनों में टूट जाता है |

K2SO4.Al2(SO4)3.24H2O &#8594 K2SO4 + Al2(SO4)3 + 24H2O

K2SO4 &#8594 2K+ + SO4– –

Al2(SO4)3 &#8594 2Al+++ + 3SO4– –

फिटकरी के उपयोग(Uses of Alum)-

1- अग्निशामक यंत्र में |

2- चमड़ा और कागज उद्योग में |

3- जीवाणुनाशक के रूप में |

4- रक्त का बहना |

5- रंगाई और छपाई में |


Related Posts
अम्ल और क्षार
धावन सोडा और बेकिंग सोडा
लवण और pH नोट्स


विरंजक चूर्ण(Bleaching Powder)


रासायनिक नाम – कैल्सियम हाइपो क्लोराइट
रासायनिक सूत्र –

CaOCl2 या Ca(OCl)Cl

बनाने की विधि(Method to Make Bleaching Powder)-

कैल्शियम हाइड्राऑक्साइड पर क्लोरीन गैस प्रवाहित करने पर विरंजक चूर्ण का निर्माण होता है |

Ca(OH)2 + Cl2 &#8594 CaOCl2 + H2O

विरंजक चूर्ण के भौतिक एवं रासायनिक गुण(Physical and Chemical Properties of Bleaching Powder)-

1- यह क्लोरीन की गंध वाला हल्का पिला चूर्ण है |

2- इसके जलीय विलयन को गर्म करने पर Cl2 गैस निकलता है |

CaOCl2 + H2O &#8594 Ca(OH)2 + Cl2

3- ब्लिचिंग पाउडर को गर्म करने पर यह कैल्सियम क्लोराइड तथा O2 गैस देता है |

2CaOCl2 &#8594 2CaCl2 + O2

4- यह कोबाल्ट क्लोराइड उत्प्रेरक (COCl2) की उपस्थति में CaCl2 व O2 गैस बनाता है |

विरंजक चूर्ण के उपयोग(Uses of Bleaching Powder)-

1- क्लोफार्म (CHCl3) बनाने में |

2-चीनी का रंग सफेद करने में |

3- विरंजक के रूप में |

4- जल को शुद्ध करने में |

5- ऑक्सीरक के रूप में |

Note- किसी पदार्थ का रंग उड़ाने की प्रक्रिया को विरंजन कहते हैं तथा जिस पदार्थ की सहायता से विरंजन होता है उसे विरंजक कहते हैं |
Bleaching Powder में Cl2 गैस है इसलिए यह विरंजक का कार्य करता है |


Tags- Bleaching Powder study notes in Hindi , potsh alum study notes in hindi , sal ammonia study notes in HIndi , विरंजक चूर्ण बनाने की प्रयोगशाला विधि , फिटकरी बनाने की प्रयोगशाला विधि , नौसादर बनाने की प्रयोग शाला विधि , कक्षा 10 रसायन विज्ञान हिंदी में , high school science notes in Hindi , 10th chemistry notes in Hindi.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *