प्रकाश(Light notes in Hindi)

Light( प्रकाश ) | light chapter in hindi

Light( प्रकाश ) –


प्रकाश एक प्रकार की उर्जा है जो हमारी आखों को संवेदित करती है |

प्रकाश के गुण(Properties of Light)

1- निर्वात में प्रकाश की चाल 3 X 108 होती है |

2- दृश्य प्रकाश की तरंग दैर्ध्य 3900 A से 7800 A तक होती है |

3- प्रकाश विद्दयुत तरंगो के रूप में सीधी रेखा में चलता है |

4- प्रकाश के कारण वस्तुएं हमे दिखाई देती है , लेकिन प्रकाश स्वयं हमें दिखाई नहीं देता है |

5- प्रकाश जब किसी तल से टकराता है तो उसका परावर्तन हो जाता है |

नोट- जो वस्तुयें प्रकाश उत्पन्न करती हैं , उन्हें प्रदीप्त(Luminous) वस्तुयें कहते हैं

जैसे- सूर्य, मोमबत्त्ती , बल्ब etc.

तथा जो वस्तुयें प्रकाश उत्पन्न नहीं करती हैं , उन्हें अप्रदिप्त(Non-Luminous) वस्तुयें कहते हैं |

जैसे- चंद्रमा , किताब , कलम etc.

प्रकाश की किरणों के प्रकार(Types of Rays) –

प्रकाश की किरण तीन प्रकार की होती है-

1- समान्तर

यह किरणें सभी बिन्दुओं पर समान्तर होती हैं |

2-अभिसारी

यह किरणें स्रोत से निकलकर किसी एक बिंदु पर मिल जातीं हैं |

3-अपसारी किरणें

यह किरणें स्रोत से फैलती हुई नजर आती हैं , यह किरणें अभिसारी किरणों के ठीक उल्टा होती हैं |

प्रकाशिक माध्यम(Optical Medium)

जिस माध्यम से प्रकाश गुजरता है , उसे प्रकाशिक माध्यम कहते हैं | प्रकाशिक माध्यम तीन प्रकार का होता है –

1- पारदर्शी माध्यम(Transparent)

जिस माध्यम से प्रकाश आसानी से आर-पार निकल जाता है , उसे पारदर्शी माध्यम कहते हैं |

जैसे- निर्वात , हवा , कांच etc.

2- पारभासी माध्यम(Transluscent)

जिस माध्यम से प्रकाश का कुछ भाग आर-पार निकल जाता है , उसे पारभासी माध्यम कहते हैं |

जैसे- जल , पर्दा etc.

3- अपारदर्शी माध्यम(Opaque)

जिस माध्यम से प्रकाश आर-पार आ जा नहीं सकता है , उसे अपारदर्शी माध्यम कहते हैं |

जैसे- लकड़ी , मिटटी etc.

प्रतिबम्ब(Image) –

दर्पण में बनने वाले वस्तु की आकृति को प्रतिबम्ब कहते हैं |

प्रतिबम्ब दो प्रकार का होता है –

1- वास्तविक प्रतिबम्ब

इसको परदे पर प्राप्त किया जा सकता है | यदि किसी बिंदु से चलने वालीं प्रकाश की किरणें दर्पण से परावर्तित होने के पश्चात् किसी दुसरे बिंदु पर वास्तव में मिलतीं हों, तो बनने वाला प्रतिबिम्ब वास्तविक होगा |

2- आभासी प्रतिबिम्ब

इसको परदे पर प्राप्त नहीं प्राप्त कर सकते हैं , इसका फोटो लिया जा सकता है | यदि किसी बिंदु से चलने वालीं प्रकाश की किरणें दर्पण से परावर्तित होने के पश्चात् किसी दुसरे बिंदु पर वास्तव में नहीं मिलती हों , बल्कि मिलती हुई प्रतीत होती हों तब बनने वाला प्रतिबिम्ब आभासी होगा |

प्रकाश का परावर्तन(Reflection of Light)

जब प्रकाश किसी चिकने तल से टकराता है तो वापस अपने मार्ग पर लौट जाता है , यह क्रिया प्रकाश का परावर्तन कहलाता है |
image here

प्रकाश के परावर्तन का नियम(Laws of Reflection) –

प्रकाश के परावर्तन का दो मुख्य नियम है :-

1-आपतित किरण , परावर्तित किरण और आपतन बिंदु पर अभिलम्ब तीनों एक ही तल में होते हैं |

2- आपतन कोण , अपवर्तन कोण के बराबर होता है |

Tags- Highschool science notes in hindi , highschool physics notes in hindi , prakash ki paribhasha hindi me , highschool bhautik vigyan notes hindi me , class 10 th physics notes in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *