Rajnikanth biography in Hindi (रजनीकांत की जीवनी)

Rajnikanth wikipedia in Hindi( रजनीकांत की जीवनी )

Rajnikanth Biography in Hindi( रजनीकांत की जीवनी )


Hi friends , educational blog StudyTurn पर आपका स्वागत है , आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे के सुपरस्टार रजनीकांत के बारे में |


यह भी पढ़ें-


बच्चो से लेकर बड़े- बुजुर्ग सब उनके दीवाने हैं , दक्षिण भारतीय लोग उनको भगवान की तरह पूजते हैं | इस समय वह एशिया में जैकी चेन के बाद दुसरे सबसे ज्यादा फ़ीस लेने वाले एक्टर हैं | उनकी फीस अक्षय कुमार , सलमान , शाहरुख और आमिर खान जैसे एक्टरो से भी ज्यादा होती है | उनको कई फिल्मफेयर अवार्ड भी मिल चुके हैं |

तो चलिए जानते है , रजनीकांत की जीवनी |

रजनीकांत का जन्म सन 1950 में बंगलौर के एक मराठी परिवार में हुआ था | उनका असली नाम शिवाजी राव गायकवाड़ है | उनके पिता रामोजी राव गायकवाड़ , एक पुलिस कांस्टेबल थे | उनके दो भाई ( सत्यनारायण राव और नागेश्वर राव ) तथा एक बहन ( अस्वाथ बलुभाई ) हैं |

उनकी प्रारंभिक शिक्षा ‘गविपुरम गवर्मेंट कन्नड़ मॉडल प्राइमरी स्कूल से हुई | उसके बाद वह रामकृष्ण मठ में पढने लगे , जहा उन्होंने वेद-पुराणों का अध्यन किया | उसी मठ से उन्होंने नाटकों में भाग लेना भी शुरू कर दिया | एक बार उनको एकलव्य के दोस्त का रोल करने को दिया गया , जिसमें उन्होंने बहुत ही अच्छा परफोर्मेंस किया था | उस नाटक में अच्छा परफॉरमेंस देने के वजह से उनकी काफी तारीफें की गयी | उसके बाद वह आचार्य पाठशाला पब्लिक स्कूल में पढने लगे | जब वह मात्र 9 वर्ष के थे , तभी उनकी माँ का देहांत हो गया | अपने स्कूल के दिनों में उन्होंने नाटकों में खूब भाग लिया |

अपने स्कूल की पढाई पूरी करने के बाद , पैसों की कमी के कारण उन्होंने कुली , बढ़ई आदि का कम किया | कुछ समय के बाद उनकी नौकरी एक बस कंडक्टर के रूप में बैंगलोर ट्रांसपोर्ट सर्विस में गई | कंडक्टर के रूप में नौकरी करने के साथ- साथ वह स्टेज प्रोग्रामों तथा नाटकों में भी भाग लेते थे , एक्टिंग करना उनका शौक था | बस में अपने टिकट काटने के अंदाज से और बस में भी कुछ कॉमेडी करने के कारण वह अपने यात्रियों और सहकर्मियों में काफी लोकप्रिय थे |

एक्टिंग में उनकी रूचि को देखकर उनके दोस्त ‘राज बहादुर ‘ ने उन्हें मद्रास फिल्म insitute ज्वाइन करने का सलाह दिया और आर्थिक रूप से उनकी मदद भी किया | मद्रास फिल्म इंस्टिट्यूट में इनकी मुलाकात तमिल फिल्म निर्देशक के. बालचंदर से हुई , वह रजनीकांत की एक्टिंग की कला को देखकर काफी प्रभावित हुए और उन्होंने अपनी फिल्म ‘अपूर्व रागंगल ‘ में रजनीकांत को एक छोटा सा रोल दिया | हालाँकि उस फिल्म में लोगों ने इनके उपर ज्यादा ध्यान नही दिया , लेकिन जिन लोगों रजनीकांत की उपर ध्यान दिया , उनकी कला को खूब सराहा | उसके बाद उन्होंने कई फिल्मों में छोटे-मोटे रोल किये और कई फिल्मों में उन्होंने विलेन का भी रोल किया |

उनकी पहचान बनी डायरेक्टर मुथुरामन की फिल्म ‘ भुवना ओरु केल्विक्कुरी ‘ से जिसमें उन्होंने लीड रोल किया था | उसके बाद उन्होंने कई हिट फ़िल्में दिया | उन्होंने अपना पहला बॉलीवुड फिल्म ‘अँधा कानून ‘ वर्ष 1983 में किया जिसमें उनके साथ अमिताभ बच्चन और हेमा मालिनी थे , उस समय वह फिल्म सुपरहिट रही थी | उनकी उस समय सबसे सुपरहिट फिल्म ‘बेवफाई’ थी जिसमे उनके साथ राजेश खन्ना थे , उस फिल्म ने उस समय लगभग 12 करोंड़ कमाया था |

उसके बाद उन्होंने कई सुपरहिट फ़िल्में किया | बॉलीवुड के अलावा उन्होंने कई विदेशी फिल्मों में भी काम किया है | 2007 में उन्होंने तमिल फिल्म ‘शिवाजी ‘ में काम किया , जो देश ही नहीं विदेश में भी सुपरहिट रही , उस फिल्म के लिए रजनीकांत को 26 करोंड़ दिया गया , जिससे वह एशिया में सबसे ज्यादा पैसा लेने वाले एक्टर्स में दुसरे स्थान पर आ गए | उसके बाद उन्होंने ‘enthiran ‘ फिल्म में कम किया , जिसके लिए इनको 45 करोड़ दिया गया | उसे बाद उन्होंने रोबोट, कबाली आदि फिल्मो में कम किया है जो सुपरहिट रही | अब उनकी आने वाली फिल्म रोबोट 2.0 है , जो 2018 में रिलीज होगी |

वह इंडिया में सबसे ज्यादा पैसा कमाने वाले एक्टर हैं , लेकिन वह हमेशा साधारण रूप में रहते है | और लोगों की आर्थिक रूप से मदद भी करते है | भारतीय सिनेमा जगत में उनके योगदान को देखकर भारत सरकार ने उन्हें पदम् भूषण और पदम् विभूषण से सम्मनित किया है |

रजनीकांत की जीवनी लोगो के लिए बहुत ही प्रेरणादायक है और इसीलिए रजनीकांत की बायोग्राफी को इस ब्लॉग पर प्रकाशित किया गया है |


यह भी पढ़ें-


तो friends यह था आज का पोस्ट , आशा करता हूँ की यह आपको पसंद जरुर आया होगा |

अगर आपको यह पसंद आया हो तो इसे like और शेयर जरुर करे |

Thanks!

tags- रजनीकांत की सफलता की कहानी , रजनीकांत की बायोग्राफी , रजनीकांत की जीवनी हिंदी में , Rajanikant ki jivani hindi me , Rajanikant biography in hindi , rajanikant success story in hindi , rajnikant ke safalta ki kahani .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *